शनिवार, 26 जुलाई 2014

रशेल कोरी


सोलह मार्च 2003 . उस दिन रशेल कोरी नाम की एक तेईस साल की अमरीकी लड़की गाजा के राफा नाम के शहर में इस्रायली बुलडोजरों की सामने खड़ी हो गयी थी .उसे उम्मीद थी कि उसके वहाँ खड़ा होने से इज़रायली बुलडोजर रुक जायेंगे.जो फिलीस्तीनी घरों को ढहाने के लिए आगे बढ़ रहे थे .
वह एक अकादमिक प्रोजेक्ट पर काम करने गाजा पहुँची थी . वहाँ शांति के लिए काम कर रहे इंटरनेशनल सौलिदैरिती मूवमेंट से जुड़ी. उसने महसूस किया कि इस्रायली फौजें फिलिस्तीन में जो कुछ कर रही हैं , उसे आत्मरक्षा के अधिकार अंतर्गत वाजिब नहीं ठहराया जा सकता .
उसकी उम्मीद पूरी नहीं हुयी .
बुलडोजर उसे कुचल कर आगे बढ़ गए .
क्या आपको लगता है कि ओबामा या मोदी को रशेल कोरी नाम की उस बहादुर लड़की की याद होगी ?
 

0 टिप्पणियाँ:

एक टिप्पणी भेजें