गुरुवार, 7 अगस्त 2014

'कुछ भी न कहो, चुप ही रहो '

 

                1

RSS की प्रांतीय बैठक में स्वयंसेवक पर लड़के से कुकर्म करने का आरोप ।

मंत्री ने फोन करके कहा- मामला संघ से जुड़ा है, ज्यादा मत उछालो.
भिंड . मध्य प्रदेश में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) की प्रांतीय बैठक में हिस्सा लेने आए एक किशोर ने स्वयंसेवक पर कुकर्म करने का आरोप लगाया है। इस घटना के बाद बीएससी में पढ़ने वाले पीड़ित किशोर ने जान देने की कोशिश की। पुलिस को दिए आवेदन में पीड़ित के पिता ने बताया, 'मेरे बेटे के साथ 23 जुलाई की रात स्वयंसेवक सोनू गर्ग ने यह हरकत की। मैंने इसकी शिकायत संघ के जिला प्रचारक और मंत्री लाल सिंह आर्य समेत कई पदाधिकारियों से की लेकिन सभी ने चुप रहने की नसीहत दी।'


                                                                 2




   मेरठ में महिला से गैंगरेप और जबरन धर्मान्तरण के आरोपों के बाद क्षेत्र में तनाव - NDTV

मेरठ: उत्तर प्रदेश के मेरठ में एक महिला को अगवाकर उसका धर्म परिवर्तन कराने और फिर गैंगरेप करने की खबर आज दिल्ली के सियासी गलियारों में भी गूंजी। वहीं मेरठ में भी इस मामले को लेकर तनाव है।
इस महिला का दावा है कि वह अपहरणकर्ताओं की कैद से किसी तरह निकलकर भागी और वापस मेरठ अपने घर तक पहुंची। कैद में रखने के दौरान उसका एक ऑपरेशन भी किया गया। यह महिला इस समय अस्पताल में भर्ती है। पुलिस ने उसकी शिकायत पर एफआईआर दर्ज करते हुए तीन आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है हालांकि अपहरण का मुख्य आरोपी अब तक फरार है।
सपा मुखिया मुलायम सिंह यादव ने कहा है कि वह इस मामले में सख्त कार्रवाई करेंगे।
वहीं यूपी में सत्तारूढ़ समाजवादी पार्टी के नेता राजेन्द्र चौधरी ने कहा कि इस तरह की घटना को बर्दाश्त नहीं किया जा सकता, लेकिन साथ ही इस पर राजनीति भी नहीं होनी चाहिए।
उधर, इस घटना को लेकर यूपी सरकार ने खुफिया विभाग और प्रशासन को पूरी तरह से चौकन्ना रहने को कहा है। साथ ही पीएसी की एक कंपनी को मेरठ में तैनात किया जा रहा है।
युवती के साथ हुए सामूहिक बलात्कार और धर्म-परिवर्तन की घटना के बाद सोमवार रात मेरठ के खरखौदा और आसपास के क्षेत्रों में दोनों सम्प्रदायों के बीच घंटों तक पथराव होता रहा हालांकि पुलिस अधीक्षक (ग्रामीण) कैप्टन एमएस बेग का कहना है कि स्थिति अब नियंत्रण में है।
हापुड़ के जिलाधिकारी राजेश कुमार सिंह ने बताया कि घटना की मजिस्ट्रेटी जांच की जिम्मेदारी उपजिलाधिकारी एसपी सिंह को सौंपी गई है। वह एक सप्ताह के भीतर अपनी रिपोर्ट जिलाधिकारी को सौंपेंगे ।
मेरठ के जिलाधिकारी पंकज यादव ने बताया कि घटना के सिलसिले में मौलवी सलाउल्ला, उसकी पत्नी और बेटे को गिरफ्तार किया गया है। उन्होंने बताया कि पीड़िता का बयान आज दर्ज किया जाना था लेकिन उसने आज ऐसा करने से मना कर दिया।
उधर, घटनास्थल से लौटे कैप्टन बेग ने बताया कि इस पूरे मामले में लापरवाही बरतने के आरोप में खरखौदा के थाना प्रभारी को लाइन हाजिर किया गया है। उन्होंने बताया कि पीड़िता की मेडिकल जांच में दुष्कर्म की पुष्टि हुई है ।
उन्होंने बताया कि पीड़िता के पिता ने खरखौदा थाना में ग्राम प्रधान नवाब खान, मौलवी सलाउल्ला, उसकी पत्नी और बेटे के खिलाफ नामजद प्राथमिकी दर्ज कराई है। शिकायत में इन चारों पर पीड़िता का अपहरण करने और उसका बलात्कार करने का आरोप लगाया गया है।
मेरठ में महिला से गैंगरेप और जबरन धर्मान्तरण के आरोपों के बाद क्षेत्र में तनाव...http://t.co/5e9egcpGCb

                           
ये दो  नहीं एक घटना  है. और इसमें न कहीं कोई हिंदू दोषी  है न कोई मुसलमान गुनाहगार  है. इसके दोषी तो वो    सारे लोग हैं जिन्होंने  काम  को पाप  मानते  हुए  एक काम  कुंठित और यौन विक्षिप्त समाज को विकसित किया है.  जहाँ कामेच्छा अपराध नहीं मानी जायेगी वहाँ ऐसी घटनाएँ नहीं होंगी. काम संबंधों को हिकारत से देखने या उसे अजूबा समझने की सोच खत्म होनी चाहिए.


ये समझ पाना मुश्किल हो रहा है की आक्रोश बलात्कार के अपराध को लेकर है या विधर्मियों के शामिल होने को लेकर है ? ये भी समझ पाना मुश्किल हो रहा है कि जबरन धर्मांतरण को लेकर आक्रोश है या बलात्कार और धर्मांतरण दोनों को लेकर है ? 
घटना अगर वैसी ही है जैसी अभी तक बतायी जा रही है तो ये क्रूरतम अपराध है और इसके वास्तविक अपराधी इसके सरंक्षक और पोषक हैं जो धर्म और समाज के अगुवा बने हैं.

मध्य प्रदेश में बलात्कार कहाँ होता है ? वहाँ तो साक्षात्कार होता है ,जैसे मंत्री राघव जी (?) लिया करते थे ,जैसे प्रचारक सुनील गर्ग जी (?) लेते हैं .


 मतलब ये कि मामला अगर एक ही धर्म के अंदर होता तो फिर ज्यादा गुस्से की बात नहीं थी जैसे अभी मध्य प्रदेश में सांस्कृतिक प्रचारक द्वारा किया गया . ऐसा तो चलता है वो कोई ख़ास बात नहीं है न ?



0 टिप्पणियाँ:

एक टिप्पणी भेजें