गुरुवार, 10 मार्च 2016

'आओ देशभक्त जल्लादों, पूंजी के विश्वस्त प्यादों, बंद ना हों जो ये आवाजें, इज्जत लूटों. गला दबा दो.'

                                                             1

नई दिल्ली: पत्रकार बरखा दत्त ने आज कहा कि जेएनूय विवाद पर उनकी रिपोर्टिंग को लेकर उन्हें धमकी भरे कॉल आ रहे हैं जिसको लेकर उन्होंने पुलिस में शिकायत दर्ज कराई है और अपना बयान दर्ज कराने के लिए वह मेट्रोपोलिटन मजिस्ट्रेट की अदालत में पेश हुईं।  
उन्होंने आज ट्वीट किया, ‘‘अदालत ने इस बात का संज्ञान लिया कि जेएनयू पर मेरी रिपोर्टिंग को लेकर चार मार्च से मुझे कई अज्ञात गाली गलौज भरे एवं जान से मार देने की धमकी संबंधी फोन आए हैं।’’ उन्होंने ट्विटर पर लिखा, ‘‘आपमें से कई ने कहा प्राथमिकी दर्ज कराइए, मैं पीछा करने, मौत की धमकी देने और गालिया देने के खिलाफ बयान दर्ज कराने के लिए आज मेट्रोपोलिटन मजिस्ट्रेट की अदालत में पेश हुई। ’’  
दिल्ली महिला आयोग के एक सार्वजनिक कार्यक्रम में उन्होंने कहा कि पिछले काफी दिनों से एक अज्ञात व्यक्ति का फोन मुझे आ रहा है और वह मुझे बलात्कार करने, यौन उत्पीडऩ करने और यहां तक कि मुझे गोलियां मार देने की धमकी दे रहा है। एक पुलिस अधिकारी ने कहा, ‘‘हमें जो शिकायत मिली थी उसके आधार पर इस घटना के सिलसिले में भादसं की संबंधित धाराओं के तहत प्राथमिकी दर्ज की गई। जांच चल रही है।’’
                                                        2

ऐंकर को RSS के कार्यकर्ताओं ने धमकाया, फोन पर कह रहे प्रॉस्टिट्यूट, 5 कार्यकर्ताओं को गिरफ्तार किया।


मलयालम के एक न्यूज चैनल एशियानेट न्यूज टीवी की महिला ऐंकर को स्मृति ईरानी का पढ़ा दोहराने की वजह से संकट का सामना करना पड़ रहा है। शुक्रवार को ऐंकर सिंधु सूर्यकुमार ने अपने न्यूज चैनल पर एक बहस को होस्ट किया था। बहस का विषय था कि क्या महिषासुर जयंती मनाना ‘देशद्रोह’ हो सकता है। इसके बाद से उन्हें धमकी भरे फोन कॉल आ रहे हैं। पुलिस ने इस मामले में 3 जिलों से राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ के 5 कार्यकर्ताओं को गिरफ्तार किया।
इनकी पहचान रारीष, विकास, विभाष, शिजिन और रामदास के तौर पर की गई। कैंटोनमेंट सर्किल इंस्पेक्टर जी उज्ज्वल कुमार ने बताया कि गिरफ्तार किए गए सभी आरोपी संघ के सदस्य हैं। फिलहाल आरोपियों को बेल पर रिहा कर दिया गया है।
आपको याद दिला दें कि संसद में जेएनयू विवाद पर जवाब देते हुए मानव संसाधन मंत्री स्मृति ईरानी ने कैंपस में महिषासुर दिवस मनाने और दुर्गा के लिए अपशब्द का इस्तेमाल करने की कथित घटना का जिक्र किया था। उन्होंने संसद में एक पर्चे को पढ़ा था, जिसे जेएनयू में महिषासुर दिवस मनाने वालों का बताया गया था।
इंडियन एक्सप्रेस की खबर के मुताबिक इस शो के बाद टीवी न्यूज चैनल की चीफ कोऑर्डिनेटिंग एडिटर सिंधु को 2000 से अधिक धमकी भरे फोन कॉल आ चुके हैं। आरोप है कि कथित तौर पर हिंदुत्व संगठनों के फोन कॉल आ रहे हैं, जो उन्हें अपने शो के दौरान दुर्गा को ‘सेक्स वर्कर’ पुकारने को लेकर धमका रहे हैं। सिंधु ने बताया कि उन्हें हर मिनट पर फोन आ रहे हैं।
अखबार के मुताबिक उस शो के विडियो में ये शब्द बीजेपी के राज्य सचिव वीवी राजेश ने उस पंफलेट को कोट करते हुए कहे थे, जिसे स्मृति ईरानी ने संसद में पढ़ा था। सोमवार को केरल पुलिस ने पत्रकार की शिकायत पर 5 लोगों को गिरफ्तार भी किया है। तिरुवनंतपुरम के सीपी जी स्पर्जन कुमार ने बताया कि हिरासत में लिए गए सभी बीजेपी, संघ और श्री राम सेना जैसे हिंदुत्व संगठन के कार्यकर्ता हैं।
एक आरोपी ने बताया है कि उन्हें महिला पत्रकार का नंबर एक वाट्सऐप ग्रुप से मिला। इस ग्रुप का नाम संघ ध्वनि है। इसपर किसी सदस्य ने नंबर शेयर कर महिला पत्रकार को धमकाने के लिए कहा था। ग्रुप में बताया गया कि फेसबुक पर दुर्गा के खिलाफ पोस्ट करने पर धमकाया जाए।
ऐंकर सिंधु ने बताया कि फोन पर लोग उन्हें प्रॉस्टिट्यूट कह रहे हैं, गालियां दे रहे हैं। बहुत सारे उन्हें धमकी भी दे रहे हैं। जबकि कई फोन करने वालों को यही नहीं पता कि मामला क्या है। उन्होंने बताया कि शो में मौजूद रहे बीजेपी के सचिव राजेश उन्हें जांच में मदद के लिए आश्वस्त कर रहे हैं।
लेकिन वह यह भी कह रही हैं कि बीजेपी-आरएसएस की स्टेट लीडरशिप इस मामले में चुप्पी साधे हुए है। केवल फ्रीडम ऑफ प्रेस के नाम से एक बयान भर जारी कर दिया गया है।







0 टिप्पणियाँ:

एक टिप्पणी भेजें