रविवार, 6 अगस्त 2017

पत्थर पड़े हैं अक्ल पर ,फेंक रहे हैं पत्थर
इधर सूरमा दे रहे, डटकर उनको उत्तर |

पत्थर आतंकवाद है, पत्थर है उन्माद
पत्थरबाजों ने किया,अमन चैन बरबाद |




0 टिप्पणियाँ:

एक टिप्पणी भेजें